स्मरण शक्ति को ऐसे बढ़ाये | How to Increase You Memory Power and Intelligence

स्मरण शक्ति को ऐसे बढ़ाये | How to Increase You Memory Power and Intelligence

Share (शेयर करे)

क्या आपके साथ ऐसा होता है की किसी चीज़ को याद करने की कोशिश करते हो पर अहेम वक़्त पर आप उसे भूल जाते हो? क्या आप चाहते हो, की आपकी बुद्धि और स्मरण शक्ति कई गुना बढ़ जाये? तो बस, कुछ मिनटों बाद ही, आपका ये सपना पूरा होने वाला है! आपका दिमाग एक कंप्यूटर जैसा तेज़ हो जायेगा! मैं आपको ऐसे ट्रिक्स बताऊंगा जिस से आपकी बुद्धि और स्मरण शक्ति कम से कम 10 गुना जरुर बढ़ जाएगी | आप इस आर्टिकल को शुरू से ले कर एकदम लास्ट तक पढना क्यूंकि ये आर्टिकल, आपकी ज़िन्दगी पलटने वाली है| बहुत कोई ये सोचते है, की वो जिस बुद्धि के साथ जन्म लिए है, ज़िन्दगी भर उनकी बुद्धि उतनी ही रहती है | तो दोस्तों, ये एक बहुत बड़ा मिथ है, यानि एक झूटी बात है | बुद्धि और स्मरण शक्ति को बढ़ाना १०० प्रतिशत संभव है और इसके कई तरीके है जो ज्यादातर लगो को नहीं पता |

 

सबसे पहले, अपने दिमाग को शांत करने की कोशिश करो और आपके मन में जो आवाज़ ‘बड-बड’ करते रहती है, उसे शांत करो| आप ये नोटिस करना, की आपका दिमाग हमेशा बिजी रहता है , मतलब हमारा दिमाग हमेशा कुछ न कुछ सोचते रहता है और हमारे दिमाग में कुछ न कुछ चलते रहता है | तो अगर आपको अपनी बुद्धि और स्मरण शक्ति को बढ़ाना है, तो आपको ये आदत डालनी होगी! मतलब दिमाग में जो तस्वीरे घूमते रहती है, उसे रहने दो, पर जो आवाज़ बोलते रहती है हर समय, उसे शांत कर दो| पुरे दिन भर, उस आवाज़ को शांत करने की कोशिश करो मतलब मन में बात मत करो | सिर्फ चीजों को देखो | इस चीज़ को, 6-7 दिन तक करने के बाद, आप ये नोटिस करोगे, की वो आवाज़ अब बंद हो चुकी है मतलब एक हफ्ते ये करने के बाद आपका दिमाग ऑटोमेटिकली शांत रहेगा और फिर देखना, आपकी अवलोकन शक्ति बढ़ जाएगी | आप मन में बडबडाने के बदले, किसी भी चीज़ को देख कर ही समझ जाओगे | सीधी भासा में बोलूं, तो आपकी बुद्धि बढ़ जाएगी| किसी भी सामान्य विद्यार्थी और असाधारण विद्यार्थी (Genius) में यही अंतर होता है| कोई भी असाधारण विद्यार्थी अपने दिमाग में हमेशा बोलते नहीं रहता है और उसी के चलते, उसका दिमाग हमेशा शांत रहता है | और जब आपका दिमाग शांत रहेगा, तब वो जयदा तेज़ी से काम करेगा | किसी भी गणित की equation, आपको इतना जल्दी समझ आ जाएगी की आप सोच भी नहीं सकते हो | तो बुद्धि को तो आप ऐसे बढ़ा सकते हो और आप अपने दिमाग का तेज़ी से इस्तेमाल करोगे| पर इसके साथ साथ आप ये भी चाहोगे की बुद्धि के साथ साथ, आपकी स्मरण शक्ति, यानि किसी भी चीज़ को याद करने की शक्ति भी बढ़ जाये|

किसी भी चीज़ को, आप अपनी 5 ज्ञानेन्द्रियो के ज़रिये याद करते हो | आपके 5 ज्ञानेंद्री कौन कौन से है | असल में 5 है – Visual – यानि किसी भीज को देख कर याद करने को visual learning कहते है | जैसे आपने रोड पर किसी कार को देखा और आपने उस कार को याद रखा, उस कार की तस्वीर को, आपने अपने मन में बैठा दिया | तो आपने visual learning का प्रयोग किया | दूसरी है Auditory Sense, यानि किसी आवज़ को याद रखना | आप अपने पसंदीदा गायक के गाने तो जरुर सुनते होंगे, तो उसकी आवाज़ आपको याद रहती है | तो इसे हम Auditory Learning कहते है | तीसरी है Olfactory Sense, किसी भी परफ्यूम की जो सुगंध होती है, जो खुसबू  होती है, उसे आप अपने नाक के ज़रिये याद रखते हो | चौथी है Taste, आपके पसंदीदा खाने की स्वाद यानि Taste आपको याद है, तभी न वो आपका पसंदीदा है! तो वो है Taste की मेमोरी | 5वी है किसी चीज़ को ‘feelings’ के ज़रिये याद रखना | किसी गरम तवे पर हाथ रखना कैसा लगता है वो तो आपको यदा ही होगा | तो किसी भी चीज़ को आप देखते हो, सुनते हो, सूंघते हो, या महसूस करते हो, तब वो memory के रूप में आपके दिमाग में बस जाती है |

 

आपका दिमाग एक कंप्यूटर की तरह है, मैंने आपको कई आर्टिकल में बताया है की आपका दिमग किसी कंप्यूटर से अधिक तेज़ है | तो अगर आपका दिमाग कंप्यूटर से आधिक तेज़ है, तो आखिर आप चीजों को भूल क्यूँ जाते हो ? इसका उतर ये है की आप किसी भी चीज़ को यद् करने का जो सही तरीका है, उसे नहीं अपनाते हो | हम सामान्य तरीके से चीजों को रटा मरते है |

मान लीजिये की एक लाइन है जिसे आप याद करना चाहते ह:

“THE DOG JUMPED OVER THE FENCE”

मतलब उस कुत्ते ने उस फेंस के ऊपर से छलांग लगायी |

मैं आपको समझाने के लिए बस एक ही लाइन ले रहा हूँ, आप इस तरीके को जितने चाहे उतने लाइन याद करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हो| तो अगर आप इस लाइन को याद करने जाते हो, तब आप असल में उसे याद नहीं करते हो |आप उसे रटते हो | आप उस लाइन को बार बार बोल बोल के पढोगे | जब आप इसे बोल बोल कर पढोगे, तो वो जो आवाज़ आप बार बार बोलोगे तो वो आवाज़ के रूप में आपके दिमाग में बैठ जाती है | और आप भी यही तरीके को आजमाते हो किसी भी भीज को याद करने के लिए | पर दोस्त, किसी भी चीज़ को याद करने का ये सबसे अच तरीका बिलकुल भी नहीं हो | ये एक बहुत कमज़ोर तरीका है | इसकी वजह ये है की आप उस लाइन को याद करने के लिए अपने 5 ज्ञानेन्द्रियो के बदले सिर्फ एक का इस्तेमाल करते हो  और वो है बोल बोल के आवाज़ को ऑडियो के रूप में दिमाग में स्टोर करना | भाई, अगर आपको 5 ज्ञानेद्रिया मिली है, तो सिर्फ 1 को क्यूँ इस्तेमाल करना भाई?

तो असल में तरीका ये है की आप अपने 5 सेंस का इस्तेमाल करे किसी भी चीज़ को याद करने में | मतलब किसी लाइन को पढ़ रहे हो , तो वो जिस पन्ने पर लिखा हुआ है उसे अपने दिमाग में एक पिक्चर के रूप में याद करने की कोशिश करे और साथ ही साथ बोल बोल कर आवाज़ के रूप में भी याद करे, और जो लाइन पढ़ रहे हो, उसे महसूस भी करे | जैसे ऊपर वाली लाइन को पढते समय ये महसूस करे की सच में एक कुत्ता है जो किसी चीज़ के ऊपर से छलांग मार रहा है |

तो इस तरह आप एक से जायदा सेंस की मदद से किसी भी चीज़ को याद रखते हो| और उसी के चलते वो आपको बहुत ज्यादा देर तक याद रहती है | उम्मीद है आपको ये आर्टिकल बहुत पसंद आया होगा |

Share (शेयर जरुर करे)

Create Account



Log In Your Account